बुध का वृष्चिक में गोचर 17 नवम्बर से 6 दिसम्बर 2015

बुध ग्रह वृष्चिक में गोचर कर रहा है। इस समय सभी जातक जो बुध की अंतर या प्रत्यंतर दषा से गुजर रहे हैं उन पर सर्वाधिक प्रभाव होंगे। आइए जानें क्या होंगे प्रभाव:-

मेष

अपनी वाणी में सावधान रहें। किसी को ऐसा मत बोलें की उसे अत्याधिक क्रोध आ जाए तथा व्यर्थ में विवाद हो जाए। आपका सामान गुम हो सकता है। अतः सावधान रहें। आपको किसी जरुरी कार्य की जिम्मेदारी दी जा सकती है। खर्चे बढ़ सकते हैं तथा भाग्य का साथ नहीं मिलेगा। आपको कार्यभार की अधिकता परेषान कर सकती है।

वृषभ

प्रेम प्रसंगों में नई उर्जा देने का समय है। पत्नी पर धन व्यय कर सकते हैं। मन में मनोरंजन का माहौल रहेगा। जल्दी निर्णय लेंगे तथा मामलों को जल्दी सुलझाने का प्रयास करेंगे। ससुराल पक्ष से कुछ प्राप्त होने की संभावना है। अविवाहित लोगों के लिए नए सम्बन्ध इंतजार कर रहे हैं। मनोरंजन से जुड़े लोगों के जीवन में नई ताजगी आ सकती है। व्यापार से जुड़े लोगों को प्रगति का अनुभव होगा।

मिथुन

स्वास्थ्य में कुछ कमी आ सकती है। मानसिक रुप से भी थोड़ी निराषा रह सकती है। आपके कार्य में अनावष्यक विलम्ब हो सकता है। मन में कुछ अवसाद रह सकता है। आपको कार्य में पूर्ण रुप से प्रसन्नता नहीं मिलेगी। नौकरी बदलने के बार में भी आप बाध्य हो सकते हैं। मानहानि होने की संभावनाएॅं प्रबल हैं। भाग्य के सहयोग से कार्य ना करें।

कर्क

प्रेम संबंधों में आपको निराषा हाथ लगेगी। धन, समय एवं मन का भी अपव्यय होगा। भाग्य का अधिक साथ नहीं मिलेगा किन्तु फिर भी आप आगे बढ़ते रहेंगे। आपको इस समय धैर्य नहीं खोना है तथा जल्दबाजी से कार्य नहीं करना। अन्यथा आपको मानहानि हो सकती है। स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। पारिवारिक संबंधों को भी बनाए रखना जरुरी है। घर में विवाद ना हो इसका भी ध्यान रखना होगा।

सिंह

कार्य एवं व्यवसाय में बढ़ोतरी संभव है। नौकरी में आपको अच्छा फल मिलेगा। व्यापारी लोगों के लिए समय अच्छा है तथा धन की अच्छी आवक होगी। जमीन से जुड़े कार्य में लोगों को अच्छा मुनाफा हो सकता है। मित्रों की सहायता मिलेगी तथा उनके द्वारा आपके कुछ काम भी बन सकते हैं। आपको अपने स्वास्थ्य को लेकर थोड़ी परेषानी हो सकती है।

कन्या

वाद विवाद तर्क वितर्क आदि से आपको लाभ होगा। यह समय छात्रों के लिए अच्छा है। आपकी छोटी यात्रा हो सकती है। परिवारजन के साथ अच्छा समय बिता सकते हैं। भाग्य भी आपके साथ रहेगा। आपके जीवनसाथी के भी किसी लम्बी यात्रा पर जाने के योग हैं। प्रेम संबंध अच्छे रहेंगे। नौकरी में आपकी प्रषंसा होगी।

तुला

बुध आपके कुटुंब भाव में आ गया है। आपके लिए यह षुभ है। बुध आपकी कुंड़ली में द्वादेष भी है किन्तु फल आपको नवम भाव में ही देता है। तुला के जातक भी व्यापार में सफल रहते हैं क्योंकि भाग्यधिपति स्वयं बुध ग्रह है। आपको अपने रिष्तेदारों से आय हो सकती है। यह गोचर आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगा। ष् ष्

वृश्चिक

आपको इस समय नुकसान के काफी योग हैं। सावधानी बरतना बेहद जरुरी है। खान पान में भी आपको सावधानी रखनी होगी। आप किसी बिमारी से ग्रस्त हो सकते हैं। प्रेम संबंधों में बात आगे बढ़ सकती है। आपकी मेहनत भी सफल होगी। आप किसी अच्छी योजना को मना सक सकते हैं। सोच विचार कर निर्णय करें। जमीन के मामलों में आपको परेषानी हो सकती है।

धनु

कामकाज के सिलसिलें में बाहर जाना हो सकता है। कार्य में विलम्ब तथा परेषानी आ सकती है। आपको मानसिक रुप से परेषानीयांें का सामना करना पड़ सकता है। खुद को फिजूल खर्चे करने से रोकें। सही कार्य में निवेष करें, लाभ होगा। आपको गले में समस्या हो सकती है। यदि आपका षरीर स्थूलकाय है जो अभी से व्यायाम करना प्रारम्भ करना सही रहेगा।

मकर

यदि आप नौकरी से परेषान हैं तो अभी नौकरी बदलने का सोच सकते हैं। दोस्तों से मिलते रहें तथा उनका साथ आपको लाभ मिलेगा। भाग्य आपके सहयोग में है। आप सही दिषा में कार्य करें आपको भाग्य का पूर्ण सहयोग मिलेगा। आपका मित्रता का दायरा बढ़ेगा तथा काम आसानी से होंगे।

कुम्भ

बुध आपके एवं मकर लग्न के लिए अच्छा रहेगा। यदि वह कुम्भ में अष्टमेष बन जाता है फिर भी बुरे परिणाम कम ही देता है। आपको प्रगति मिलेगी। धन लाभ के योग अच्छे हैं। व्यापारीयों को धन का लाभ होगा तथा नौकरीपेषा लोगों को किसी ना किसी प्रकार मुनाफा होगा। व्यर्थ खर्चे से बचें।

मीन

भाग्य स्थान में बुध आपके लिए अच्छा फलदायक होगा। आप इस समय कहीं घूमने जा सकते हैं। धार्मिक स्थल पर घूमना अच्छा होगा। परिवार के साथ अच्छा समय बिताने को मिलेगा और कार्य में भी उन्नति दिखती है। प्रेम संबंध में आपको निराषा हो सकती है।

Nov, 23 2015 09:13 am