वृष्चिक राषि में षनि का उदय

षनि 18 दिसम्बर 2015 को वृष्चिक राषि में उदय हुए। इस गोचर से कन्या राषि वाले साढ़े साती से मुक्त हो जाॅंएगे। वहीं कर्क एवं मीन राषि के जातक ढैयया से मुक्त हो जाएॅंगे। धनु राषि वालों से साढ़ेसाती का प्रभाव षुरु होने वाला है। सिंह एवं मेष राषि वालों पर ढैयया का प्रभाव षुरु होगा।
इस गोचर का सभी राषियों पर क्या प्रभाव होगा, आइए इस पर नजर ड़ालें:-

मेष राशिफल

षनि गोचर 2015 आपके आठवें भाव में हो रहा है। अतः कार्य को लेकर थोड़ा तनाव रह सकता है। परन्तु घबराएॅं नहीं। आपको अपनी मेहनत का फल अवष्य मिलेगा। इस गोचर के अनुसार यदि आप अपने लक्ष्य से भटकेंगे नहीं तथा प्रयास करते रहेंगे तो षनिदेव आपको सरकार एवं संस्थाओं से भी लाभ दिला सकता है। आप इस समय जमीन में निवेष कर सकते हैं। देष विदेष की यात्रा भी संभव है। इस समय आपके कार्यक्षेत्र तथा अधिकार क्षेत्र में बदलाव आ सकता है। षनि की ढैयया के कारण आपको अपनी सेहत का ख्याल रखना जरुरी है। लेन देन के कार्य में सावधानी बरतें।
उपाय:- अपने साथ चांदी का एक चैकोर टुकड़ा रखें, शनि की कृपा प्राप्त होगी।

वृषभ राशिफल

षनि गोचर 2015 आपके सातवें भाव में है। अतः यह आपकी आमदनी में वृद्धि करवा सकता है परन्तु साथ ही साथ खर्चों में भी बढ़ोतरी होगी। अतः खर्चों पर नियंत्रण रखें। इस गोचर में आप राजकीय एवं सामाजिक जीवन में परेषानी महसूस करेंगे। कुछ महत्वपूर्ण कार्य में अवरोध भी आ सकता है। आप अपने प्रियजन से दूर भी जा सकते हैं। व्यापार एवं कारोबार में सोच समझ कर निवेष करें। बेवजह के कानूनी विवाद से दूर रहें। इस गोचर में आपको मेहनत ज्यादा करनी पड़ सकती है। नया घर लेने के लिहाज से यह गोचर लाभदायक है।
उपाय:- काली गाय की सेवा करना उचित रहेगा।

मिथुन राशिफल

षनि गोचर के दौरान षनि आपके छठे भाव में है। अतः आपको उद्योग एवं व्यापार में लाभ मिलेगा। तकनीकी एवं अर्ध तकनीकी क्षेत्र से जुड़े लोगों को भी लाभ होगा। पारिवारिक सम्बन्धों के लिहाज से आपको अनुकूल परिणाम नहीं मिलेंगे। अतः परिजनों एवं बन्धुओं के साथ आपको विनम्र बर्ताव करना होगा। आर्थिक मामलों में भी संयम से कार्य करने की जरुरत है। स्थान परिवर्तन संभव है। इस गोचर के दौरान आपको ना केवल जीवनसाथी की सेहत का ख्याल रखना होगा परन्तु अन्य छोटी छोटी बातों पर भी वाद विवाद से बचना होगा। यदि आप जमीन अथवा मकान लेना चाहते हैं तो समय अनुकूल है।
उपाय:- बहते पानी में नारियल और बादाम बहाएँ तो शनि की कृपा बनी रहेगी।

कर्क राशिफल

षनि आपके पंचम भाव में है। इस भाव में गोचर अच्छा नहीं माना जाता है। इस दषा में षनि चारों तरफ विरोध एवं अपकीर्ति फैलाता है। अतः किसी से मिलने-जुलने एवं बातचीत करने से पहले इसके प्रभावों के बारे में भलि भांति विचार कर लेवें। इस समय विपरीत लिंग के प्रति लगाव से बचें। किसी नए कारोबार में प्रवेष करने की इच्छा कर सकती है। परन्तु पूंजी के संयोजन में धोखाधड़ी भी हो सकती है। षनि गोचर के दौरान संतान पक्ष में भी चिंता बढ़ सकती है। धन का लाभ होगा फिर भी खर्चे बढ़ चढ़कर होंगे। युवा एवं प्रौढ़ जातकों के लिए समय भाग दौड़ वाला होगा।
उपाय:- बादाम का एक हिस्सा मंदिर में बांटें और दूसरा हिस्सा लाकर घर में लाकर रखें।

सिंह राशिफल

षनि गोचर 2015 के अनुसार षनि के चैथे भाव में गोचर करने के कारण आपको धन एवं कारोबार में उतार चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। इस समय अत्याधिक महत्वाकांक्षी ना बनें अन्यथा आप बेकार के कार्याें में अपना धन एवं समय दोनों व्यर्थ कर सकते हैं। यह गोचर जमीन खरीदने के लिए यह गोचर बेहतरीन है। कानूनी मामलों में सोच समझकर ही जमीन से जुड़े सौदे करें। नौकरी के लिए आप अपने घर से दूर जा सकते हैं। घर में बड़ों की सेहत का ख्याल रखें। धार्मिक यात्राओं का योग भी बन रहा है।
उपाय:- किसी कुएं में दूध डालें और रात में दूध न पियें।

कन्या राशिफल

षनि गोचर 2015 के अनुसार षनि आपके तीसरे भाव में जा रहा है। तीसरे भाव में षनि का गोचर काफी लाभदायक माना गया है। परन्तु कभी कुछ अप्रत्याषित भय व हानि भी देखने को मिल सकती है। इस गोचर में आप संतान पक्ष को लेकर सुकून महसूस करेंगे। आपके घर में मांगलिक कार्य का योग भी बन रहा है। करोबार में उन्नति होगी। यदि आप विदेष जाने में प्रयासरत हैं तो विदेष जाने का मौका मिलेगा। आपने साढ़ेसाती में जो दुख भोगे थे उनके परिणाम स्वरुप आपके जीवन में सकारात्मकता आएगी। धन का निवेष सही जगह करें। कोई जोखिम ना लेवें।
उपाय:- आंखो की दवाएँ मुफ्त में बाँटना शुभ रहेगा।

तुला राशिफल

षनि का गोचर आपके दूसरे भाव में हो रहा है। इस समय आपके वाणी पर संयम रखना होगा अन्यथा आपके दुष्मन बढ़ सकते हैं। आपको इस समय चल-अचल सम्पत्ति के लेन देन में बाधा उत्पन्न हो सकती है। आर्थिक मामलों में आपको खास ख्याल रखना पड़ सकता है। आपको धन सम्पत्ति को लेकर सचेत रहने की जरुरत है। सेहत का भी ख्याल रखें। इस गोचर के अनुसार आपको यात्रा करते समय संयम बरतने की जरुरत है। इस गोचर के दौरान आपको आत्मनिर्भर रहने की भी जरुरत है। युवा वर्ग को नौकरी में लाभ प्राप्त होगा। पारिवारिक सुख सम्मान तथा कार्य में सफलता प्राप्त होगी।
उपाय:- नंगे पांव मंदिर जाना शुभ रहेगा।

वृश्चिक राशिफल

षनि का गोचर आपके प्रथम भाव में हो रहा है। षरीर के कमजोर होने का भय रहेगा। अतः अपनी सेहत का ध्यान रखें। काम में इतना व्यस्थ ना हों की सेहत की ओर ध्यान ना देवें। अपने षरीर को थकान व नीरसता के अनुरुप आराम देवें। इस समय षत्रु आपको नुकसार पहुॅचा सकते हैं, अतः खुद भी सजग रहें तथा परिवार वालों को भी सजग रखें। ऐसा कर आप किसी अव्यवस्था के कारण होने वाली धन की हानि से बच सकते हैं। कारोबारियों के लिए इस समय उतार चढ़ाव की स्थिति बन रही है। पारिवारिक जीवन में कुछ परेषानियाॅं रह सकती हैं परन्तु दाम्पत्य जीवन बेहतर रहेगा।
उपाय:- शराब और मांसाहार से दूर रहें और बंदरों की सेवा करें।

धनु राशिफल

षनि आपके बारहवें भाव में रहेगा। अतः जीवन में कई तरह के उलटफेर होने की आषंका है। इस समय आपके संतान आपकी बात ना मानकर मनमानी कर सकती है। आपको अपने द्वारा संचित किया गया धन व्यर्थ खर्च होता दिखेगा। जहाॅं तक संभव हो वाद विवाद टालने का प्रयास करें। अपनी सेहत को लेकर लापरवाही ना करें। आपको धैर्य बनाए रख इस समय अपने काम में लगे रहना चाहिए। किसी भी प्रकार के स्वार्थ एवं लालच में लिप्त ना हों अन्यथा परेषानी को निमंत्रण देना होगा। जो है उसे स्वीकार करें तथा संतुष्ट रहें।
उपाय:- किसी काले कपड़े में बारह बादाम बाँधकर उसे किसी लोहे के बर्तन में भरकर किसी अंधेरे कमरे में रखना बेहतरी लाएगा।

मकर राशिफल

षनि आपके लाभ भाव में गोचर कर रहा है। अतः आपको कुछ नया करने की प्ररेणा मिलेगी तथा आप कोई नया काम षुरु कर सकते हैं। यदि आपने कोई कार्य षनि देव की इच्छा विरुद्ध किया था तो आपको इस समय उसका दंड़ प्राप्त हो सकता है। यदि आपने कुछ गलत नहीं किया है तो आपके किसी भी तरह की चिंता करने की जरुरत नहीं है। संतान को लेकर कुछ तनाव हो सकता है। आमदनी के योग प्रबल हैं परन्तु कोई बड़ा आयोजन कराने के लिए धन खर्च हो सकता है। आपके स्वभाव में चिड़चिड़ापन आ सकता है। षनि की प्रथम भाव में दृष्टि होने के कारण कुछ षारीरिक परेषानी रह सकती है।
उपाय:- 43 दिनों तक तेल या शराब की बूंदें ज़मीन पर गिराएँ।

कुम्भ राशिफल

षनि आपके दसवें भाव में गोचर कर रहा है। यह समय कार्य एवं व्यापार में वृद्धि करने वाला होगा। इस समय अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ाने के लिए भी अच्छा योग हैं। राजकीय कार्यों के लिए समय अनुकूल रहेगा। यदि आप राजनीति में जाने के इच्छुक हैं तो समय अनुकूल है। यदि आप किसी सामाजिक कार्य में संलग्न होने के इच्छुक है तो भी समय अनुकूल है। घरवालों की सेहत का ख्याल रखें। नौकरी करने वालों की पदोन्नति के योग हैं। युवाओं के लिए अनुकूल है। काम में सुधार होगा। यात्रा का योग भी है।
उपाय:- अंधों की सेवा करना शुभ रहेगा।

मीन राशिफल

षनि का गोचर आपके भाग्य स्थान पर होगा। अतः षनि आपको बौद्धिक कार्य में मदद देगा। यह गोचर आपको आर्थिक मामलों में भी अच्छा फल देगा। यदि आप सही तरीके से कार्य करेंगे तो आपको नौकरी में भी तरक्की मिल सकती है। कार्य एवं व्यापार के लिए समय अनुकूल है। घर परिवार में मांगलिक कार्य होने के योग हैं। निवेष के मामलों में समय लाभदायक है। यदि आप जमीन लेने का विचार कर रहे हैं तो समय अनुकूल है। आपका कोई मित्र अथवा सहयोगी आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। मित्रों से अनबन हो सकती है। कुछ खर्चे एवं षारीरिक पीड़ा भी संभव है।
उपाय:- बहते पानी में चावल बहाना शुभ रहेगा।

Category: Predictions

Dec, 28 2015 08:24 am