सूर्य का धनु में गोचर

सूर्य धनु राषि में 16 दिसम्बर को प्रवेष कर गया तथा यहाॅं 15 जनवरी 2016 तक रहेगा। इसके पष्चात मकर राषि में प्रवेष करेगा। धनु में सूर्य केतू, षुक्र एवं सूर्य के नक्षत्रों से निकलेगा एवं जिन लोगों की कुंडली में ये नक्षत्राधिपति खराब भाव के स्वामी है उनके लिए सूर्य का गोचर खराब परिणाम देगा तथा जिनके यह भावाधिपति अच्छे हैं उनके लिए यह गोचर लाभदायक है।

मेष

प्रेम संबंधों के लिए यह समय अच्छा है। किसी दूर रहने वाले मित्र से मुलाकात संभव है। कमर में दर्द रह सकता है। संतान पक्ष से आपको सुख मिलेगा। धन की हानि होने की संभावना है। अतः सोच समझ कर निवेष करें। धार्मिक स्थल पर जा सकते हैं तथा धार्मिक कार्य में धन का व्यय हो सकता है। आप बातचीत में भावुक ना हों तथा संयम बनाए रखें।

वृषभ

आपसी तालमेल में कमी रहेगी। आपकी अपनों से ज्यादा अच्छी नहीं बनेगी। आपको अपने निजी संबंधों को भी सहेज कर रखना होगा। आपको किसी पुराने विवाद में फॅंसने के योग भी हैं। अतः आपको सावधान रहना चाहिए। कुछ कार्य आपके बन जाएंगे किन्तु अधिकतर आपको आनंद में कमी ही बनी रहेगी। सेहत में गिरावट हो सकती है।

मिथुन

जीवन साथी के साथ अनबन होगी बात को अपने सम्भाला नही ंतो छोटी सी बात का पहाड़ बन जाएगा। क्रोध एवं अहंकार किसी काम के नहीं होते। अपने आचार व्यवहार को नियंत्रण में रखें। प्रेम संबंधों में भी अधिक सुख नहीं मिलेगा। इस गोचर में आपको खर्चों पर नियंत्रण रखना जरुरी है। बड़े निर्णय लेने से बचें। अधिक तीखा भोजन नहीं करना है।

कर्क

किसी व्यक्ति को उधार नहीं देना उचित रहेगा। आपको अपने रिष्तेदारों से अच्छा व्यवहार करना जरुरी है अन्यथा परिवारजन आपसे नाराज हो सकते हैं। आपको पेट से जुड़ी षिकायत हो सकती है। आप अपने निवास पर रख रखाव के कार्य करवा सकते हैं। कुछ पुराने कार्य किसी अधिकारी की मदद से भी संभव हो सकेंगे। आपको नौकरी में सराहना मिलेगी परन्तु कार्य की अधिकता परेषान भी कर सकती है।

सिंह

प्रेम संबंधों में निराषा हाथ लगेगी। आपको अपना व्यवहार सही रखना होगा अन्यथा नए सम्बन्ध अतीत में बदल जाएॅंगे। आपकी वाणी आपकी षत्रु सिद्ध हो सकती है, अतः नियंत्रित रहें। लाभ में कमी हो सकती है तथा काम काज में भी आनंद नहीं आएगा। आपका आत्मविष्वास अच्छा रहेगा परन्तु उससे भी किसी प्रकार के परिणाम प्रस्तुत करने की मदद नहीं मिलेगी।

कन्या

यह समय आपको कामकाज के लिहाज से बेहतरीन समय देने वाला होगा। आपके सहकर्मियों से आपका प्रदर्षन बेहतर रहेगा। मीडिया के लोगों को लाभ होगा। निजी जीवन में अषांति रह सकती है। धन का लाभ होगा एवं लम्बी यात्रा के योग भी है। जीवनसाथी के कामकाज में प्रगति रह सकती है। आपको अपने जीवन में गलतफहमियों के कारण अपने निजी एवं सामाजिक जीवन दोनों में बिना कारण क्रोध एवं अविष्वास का सामना करना पड़ सकता है।

तुला

आपको अपने रिष्तेदारों एवं भाइयों से अच्छा लाभ प्राप्त होगा। मित्र भी आपके साथ रहेंगे एवं आपकी सहायता करेंगे। भाग्य साथ देगा एवं नए कार्य में सफलता मिलेगी। आपकी संवाद क्षमता अतुलनीय होगी। सेहत का अवष्य ध्यान रखें। आपका अंदरुनी बल आपको प्रेरित करेगा।

वृश्चिक

धन भाव में सूर्य आपको लाभ देगा। परन्तु हानि होने की भी संभावनाएॅं हैं। आपकी नेत्रों में पीड़ा हो सकती है तथा मन खराब हो सकता है। आपको खर्चों पर नियंत्रण रखना होगा। आपको अपने कार्यक्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी। धन लाभ के भी योग हैं। किन्तु प्रेम संबंधों में आपको हानि उठानी पड़ सकती है।

धनु

लग्न में सूर्य आपको अधिक अहंकारी बना सकता है। अपने व्यवहार को नियंत्रण में रखें। निजी जीवन में भी उतार चढ़ाव रहेंगे। इस सबका कारण आपका व्यवहार होगा। सेहत बिगड़ सकती है तथा पेट से जुड़े रोग भी हो सकते हैं। जमीन के व्यवसाय से जुड़े लोगों को लाभ प्राप्त होगा। सरकारी अधिकारी आपके लिए मददगार सिद्ध हो सकते हैं।

मकर

आपको अपनी बातचीत में संयम रखना होगा। परिवार में वाद विवाद संभव है तथा उसके कारण आपको हानि होने की भी संभावना है। आपको अनिद्र घेर सकती है। सेहत को लेकर सजग रहना चाहिए। आपके कामकाज में थोड़े धीमेपन के आसार हैं। आपको इसके कारण अधिकारीयों की फटकार भी झेलनी पड़ सकती है। प्रेम सम्बन्ध में कोई सुख नहीं दिख रहा है।

कुम्भ

यह समय आपके लिए अच्छा है तथा आपके जीवनसाथी के लिए भी। आपको अपने जीवनसाथी से लाभ होने के योग हैं। इस अतिरिक्त आपको किसी षासकीय व्यक्ति की भी सहायता प्राप्त हो सकती है। यदि आप सरकारी कर्मचारी अथवा कोई ठेकेदार है तो कुछ ना कुछ लाभ जरुर प्राप्त होगा। कारोबारियों के लिए यह समय लाभदायक है। धन के आगमन के अच्छे योग हैं।

मीन

आपके मन में दुविधा रह सकता है। नौकरी छोड़ नई नौकरी करने के लिए समय पक्ष में है। आपका स्वास्थ्य सामान रहेगा। थोड़ी बहुत सेहत से जुड़ी परेषानीयाॅं हो सकती हैं। घरवालों के साथ विवाद भी संभव है। आपकी सोच दूसरों पर हावी होने वाली होगी इस कारण आपको आलोचना का सामना करना पड़ सकता है। आपकी दक्षता दूसरों से बेहतर होगी परन्तु इसको स्वयं में अहंकार का कारण ना बनने देवें। मित्रों एवं प्रियजनों पर षक करने से दूर रहें।

Category: Predictions

Dec, 28 2015 09:17 am