मंगल का मिथुन राषि में गोचर

मंगल ग्रह मिथुन राषि में 16 जून, 2015 को प्रवेश कर गया। यह 30 जुलाई तक यहीं रहेगा। मंगल एक ऊर्जावान ग्रह है और मिथुन वायुतत्व राशि है। इस गोचर के कारण सभी जीव-जंतुओं के जीवन पर कुछ न कुछ प्रभाव अवश्य पड़ेंगे। क्यों हांेगे इस गोचर के आपकी राषि पर प्रभाव आइए जानते हैं:-

मेष

मंगल का गोचर आपके पराक्रम भाव में अच्छा रहेगा। आपके प्रयासों की तीव्रता में वृद्धि होगी। आप अत्याधिक क्रोधित हो सकते हैं। अधिक क्रोध कभी अच्छा नहीं होता। आपमें थोड़ी उत्तेजना बनी रहेगी। आप अपनी बात समझाने में किसी से विवाद भी कर सकते हैं। भाग्य बहुत अच्छा नहीं रहेगा। आपकी कामेच्छा अधिक बलवती हो सकती हैं।

वृषभ

इस अवधि में अचानक कुछ खर्चे हो सकते हैं। घर परिवार में आपका किसी प्रियजन से वाद विवाद संभव है। आपका दाम्पत्य जीवन अच्छा नहीं रहेगा तथा बात बात में बहस हो सकती है। आपको अपनी बात बार बार समझाना पसंद नहीं आएगा। तेज मसाले वाले पदार्थ अच्छे लगेंगे परन्तु इनका अत्याधिक सेवन ना करें। मदिरा सेवन की मात्रा अधिक हो सकती है, इससे बचें।

मिथुन

इस समय आप अपनी बात को मनवाने के लिए कुछ भी करेंगे। आपमें आक्रामकता की अधिकता हो सकती है। आपमें किसी बात अथवा कार्य से जल्दी चिढ़ जाने की प्रव्रत्ति आ सकती है। आपके प्रेम संबंध शारीरिक संबंध में बदल सकते हैं। खान पान पर नियंत्रण रखें तथा तामसिक भोजन से बचें। वैवाहिक जीवन में आनंद नहीं आएगा। चहरे पर या सर पर चोट लग सकती है, अतः सावधान रहें।

कर्क

आपके प्रेम संबंधों में खिन्नता आ सकती है। आपके कार्य में बिना कारण के बाधाएॅं आ सकती हैं। दाम्पत्य जीवन में कुछ कमी आ सकती है। आपको शत्रुओं से परेशानी होगी। आपकी सेहत में भी गिरावट आ सकती है। संतान पक्ष से कष्ट हो सकता है। आपका व्यय बढ़ सकता है तथा समय नष्ट होगा। आप अकेला एवं असहज महसूस करेंगे। धार्मिक कार्यों में भी व्यय करने की परिस्थितियाँ बन सकती हैं।

सिंह

सिंह राषि के जातकों में वैसे भी अहंकार की मात्रा थोड़ी अधिक होती है और मंगल लाभ में आने से आपको दूसरों पर अधिपत्य जमाने की प्रबल इच्छा होगी। मित्रों और सहकर्मचारियों पर आप अपना रौब जमाने का प्रयास कर सकते हैं। इस समय आपको सभी के साथ मिलकर कार्यों को संपन्न करने का प्रयास करना चाहिए। प्रेम संबंधों में कुछ अनबन बनी रहेगी। दाम्पत्य जीवन सामान्य रहेगा।

कन्या

दशम भाव में मंगल सदा ही अच्छा होता है, बशर्ते किसी गृहिणी की पत्रिका में राहु -मंगल या केतु-मंगल की युति जन्म समय में दशम में न हो रही हो। क्रोध पर नियंत्रण रखें तथा अपने कार्यों को पूर्ण करने का ही सोचें। आपको जल्दबाजी करने की आवश्यकता नहीं है, हर चीज़ अपने नियत समय पर ही होती है। दाम्पत्य जीवन अच्छा रहेगा किन्तु प्रेम संबंधों में आपका व्यवहार बाधा बन सकता है।

तुला

इस समय आप तर्क वितर्क में जल्दी उत्तेजित हो जाएंगे। आपको नयी चीज़ें सीखने का मन हो सकता है। उच्च शिक्षा के लिए समय अच्छा है। मन में प्रसन्नता बनी रहेगी। दाम्पत्य जीवन में आपसी समझदारी बढ़ने के योग हैं। कानूनी मसले आपको क्रोधित कर सकते हैं। यह गोचर आपके लिए अच्छा रहने वाला है यदपि आप लोगों की बातों को समझने में थोड़ा वक़्त दें।

वृश्चिक

लग्नेश का अष्टम भाव में जाना स्वराशि होने के कारण यह कोई हानि नहीं करेगा। आपमें क्रोध की अधिकता होगी और आपके निजी संबंधों में चाहे वह प्रेम सम्बन्ध हों अथवा पत्नी के साथ, क्रोध अधिक प्रकट होगा। मित्रों के साथ आपकी कुछ अनबन हो सकती है। स्वास्थ्य को लेकर भी मामूली समस्या आ सकती है। वाहन आदि चलाते समय संभल कर रहें।

धनु

इस समय आपकी निजी ज़िन्दगी में अत्याधिक गुस्सा होना और एक दूसरे को शांत करना आदि होता रहेगा। आपकी व्यापारिक साझेदारों से अनबन हो सकती है। धनु उग्र स्वभाव राशि है और मंगल की दृष्टि से उस पर उग्रता में वृद्धि होगी। आप अपने गुरु या बड़े लोगों की आलोचना करने से बचें तथा खुद को षांत रखने के लिए योग करें। शिक्षा के लिए सामान्य स्थितियाँ हैं। कामकाज में स्थिरता रहेगी।

मकर

आपका स्वास्थ्य समस्या बन सकता है। आपके विरोधियों के लिए यह समय बेहद खराब है। वे आपको किसी भी प्रकार की कोई हानि नहीं पहुंचा पाएंगे। जीवनसाथी के साथ भी कुछ अनबन हो सकती है। आपके सहकर्मियों से आपकी कम बनेगी। प्रेम सम्बन्ध में कुछ ग़लतफहमी जन्म ले सकती है। शिक्षा में गिरावट आने के योग हैं किन्तु प्रतियोगी परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।

कुम्भ

आपके व्यक्तित्व में आकर्षण बढ़ेगा। प्रेम संबंधों में मधुुरता आएगी। आपको काम से ज़्यादा मौज मस्ती में मन लगा रहेगा और आप अपने दफ्तर भी समय पर बहुत बार नहीं पहुँच पाएंगे। नशे और धूर्मपान के कारण आपको समस्या का सामना करना पड़ सकता है अतः इससे बचें। खान पान का ख्याल रखें।

मीन

आपके धन की व्यय हो सकती है। आप अपने को थोड़ा अकेला महसूस कर सकते हैं। घर के बिजली के उपकरणों में भी आपका व्यय संभव है। आपका रक्तचाप थोड़ा अधिक रह सकता है। इस समय में आपको प्राणायाम ज़रूर करना चाहिए। आपके दाम्पत्य में कुछ गिरावट संभव है किन्तु प्रेम सम्बन्ध आदि ठीक बने हुए हैं। कामकाज की स्थिति भी अच्छी बनी हुई है।

Category: Uncategorized

Jun, 29 2015 08:50 am